Thursday, 16 August 2012

नरेंद्र मोदी जी के द्वारा अहमदाबाद मे साबरमती रिवरफ्रंट के पहले चरण मे बने ११ किमी वाक वे और नदी मे कई वाटर स्पोर्ट का लोकार्पण

एयर बबल मे एंज्वाय करते लोग
लोकार्पण के समय हो रही आतिशबाजी
पहले चरण के ११ किमी बने खूबसूरत वाक वे का लोकार्पण करने केबाद विशाल जनसभा को समबोधित करते मोदी जी
रात मे समय मे साबरमती रिवरफ्रंट का अद्भुत नजारा
वाक वे पर जोगिंग करते अहमदाबादी
बारिश मे रिवर फ्रंट का खूबसूरत नजारा
लोकार्पण के बाद स्पीडबोट मे घूमकर लोगो का अभिवादन स्वीकार करते मोदी जी
सच मे ऐसा स्थान जहां बैठकर आप सुकून और प्रकृति को पाकर धन्य महसूस करेंगे



मित्रों, भारत का अपने तरह का पहला और अनूठा प्रोजेक्ट "साबरमती रिवरफ्रंट" का पहला चरण पूरा हो गया | जिसमे ११ किमी मे बने वाक वे का लोकार्पण मोदी जी ने किया |


पहले साबरमती नदी के किनारे गंदगी का अम्बार लगा रहता था | दोनों तरफ कई झोपड़पट्टी बनी हुई थी .. और महानगर का सारा कचरा वहाँ फेका जाता था | साबरमती नदी का पट  कई तरह की गैरकानूनी गतिविधियों जैसे अवैध शराब बनाना , देह व्यापार , चोरी का सामान बेचना आदि का केन्द्र बन गया था |

फिर मोदी जी ने 2005 मे साबरमती रिवर फ्रंट बनाने की घोषणा  की |

क्या है साबरमती रिवरफ्रंट 
**********************

मित्रों, ये एक ऐसा प्रोजेक्ट है जो पूरा बने बिना ही देश विदेश के कुल २० पुरस्कार पा चूका है | इसमें नदी के दोनों तरफ कंक्रीट का किनारा बनाकर और वहाँ पेड पौधे, रेस्टोरेंट , आदि बनाकर इसे खुबसूरत बनाना था | फिर नदी मे एम्फिबियन बस, छोटे क्रूज शिप, तैरते होटल , वाटर स्पोर्ट आदि का प्रावधान होगा |

शुरू मे कांग्रेस के द्वारा खड़ी की गयी कई अडचने 
************************************


मित्रों, इसे बनाना इतना आसान नही था , क्योकि कांग्रेस को ये डर सताने लगा कि यदि ये प्रोजेक्ट बनेगा तो मोदी जी की लोकप्रियता मे बहुत ही वृद्धि होगी और देश विदेश मे उनकी ख्याति और बढ़ेगी | इसलिए कांग्रेस ने इसके खिलाफ गुजरात हाईकोर्ट मे अब तक कुल 15 केस दाखिल किया | पहले कांग्रेस ने कोर्ट मे ये कहा की ये नदी को खत्म कर देगा | फिर नदी के किनारे बने झोपडपट्टी को मुद्दा बनाया | जबकि गुजरात सरकार पहले ही ये एलान कर चुकी थी कि जितने भी झोपडपट्टी वाले विस्थापित होंगे उनको बहुत ही अच्छा फ़्लैट दिया जायेगा |

लोकार्पण के समय मोदी जी ने कहा कि गुजरात कांग्रेस सिर्फ "हवन मे हड्डी" डालती है | गुजरात कांग्र्रेस गुजरात का विकास नही चाहती बल्कि गुजरात को १७वीं सदी मे वापस ले जाना चाहती है . क्योकि नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर परियोजना पर भी कांग्रेस ने बहुत ही ज्यादा अडंगे डाले .. लेकिन जब केन्द्र मे अटल जी कि सरकार आई तब जाकर सरदार सरोवर परियोजना मे तेजी आई और आज पूरा गुजरात इस परियोजना के माध्यम से बने केनाल के द्वारा सिंचाई की सुविधा से युक्त है |


साबरमती रिवरफ्रंट को अब तक कई पुरस्कार मिले जिनमे मुख्य है -- बेस्ट इनोवेटिव प्रोजेक्ट ऑफ इयर, प्रधानमंत्री का बेस्ट पुरस्कार , बेस्ट आर्कीटेक्ट ओड़ द इयर, बेस्ट सिविल प्रोजेक्ट ऑफ द इयर आदि

4 comments:

भरतसिंह बावरला said...

dil khush kar diya modiji ne to.......kya khu kese tarif kru...is bharat mata ke ladle ki jitni sobha kru vo kam hai...........god bless for modi

प्रवीण गुप्ता said...

मोदी जी एक विकास पुरुष हैं. भारत उनके नेतृत्व में ही जगद गुरु और दुनिया में सबसे बड़ी ताकत बन सकता हैं. वन्देमातरम..

suresh tiwari said...

मोदी जी की जितनी भी तारीफ की जाये कम है ..जब मोदी जी देश के प्रधानमंत्री बनेंगे तो सारे देश का नज़ारा ऐसे ही होगा

Anand G.Sharma आनंद जी.शर्मा said...

देशद्रोही सियासी गिरोहों का - चाहे वो अल-खान्ग्रेस-बिला-जमीर हो या उनके हिमायती गिरोह - इनका बस एक ही मकसद होता है - हवन में हड्डी डालना |
खुद अच्छा काम कर नहीं सकते क्योंकि नीयत में ही खोट और बेईमानी है |
मुल्क को लूटने और पकड़े जाने पर झूठ बोलने के अलावा और किसी काम में महारत हासिल नहीं है |