Saturday, 14 July 2012

1984 मे कांग्रेस द्वारा प्रायोजित और राजीव गाँधी की सहमती से हुए बहादुर कौम शिक्खो के सामूहिक नरसंहार का भयावह सच कुछ तश्वीरो द्वारा .... नीच, और कांग्रेस के हाथो बिकी मीडिया कभी इन तश्वीरो को नही दिखाएगी

मित्रों, शिख भारत मे मात्र २% है लेकिन सेना और दूसरे सुरक्षा बलों मे उनकी भागीदारी ११% से भी ज्यादा है | ये एक बहादुर और सच्ची कौम है जिसने भारत मे दो दो बार त्रासदी झेली | एक बार जब इन्हें अपना परिवार जमीन आदि सब कुछ छोडकर पाकिस्तान से भारत आना पड़ा .. फिर दूसरी बार १९८४ मे जब इंदिरा गाँधी की हत्या हुई तब कांग्रेस ने इन्हें दुबारा पूरी तरह से उजाड दिया |


मित्रों, इंदिरा गाँधी की हत्या के बाद शुरू मे शिखो पर छोटे मोटे हमले हुए और दो या तीन शिख मारे गए . फिर जब दूरदर्शन के एक पत्रकार ने राजीव गाँधी के इस बाबत पूछा तो उन्होंने एक बेहद गैरजिम्मेदाराना बयान दिया जिसने आग मे घी का काम किया | उन्होंने बकायदा दूरदर्शन पर कहा कि "जब जंगल मे कोई बड़ा पेड गिरता है तो आसपास की जमीन हिलने लगती है और छोटे मोटे पेड उखड जाते है " | मतलब साफ था कि राजीव गाँधी खुद सिखों का नरसंहार चाहते थे | फिर राजीव गाँधी का इशारा मिलते ही कांग्रेस के दिल्ली मे तीन बड़े नेताओ और सांसद सज्जन कुमार, तात्कालीन केबिनेट मंत्री जगदीश टाइटलर, तात्कालीन केबिनेट मंत्री हरकिशन लाल भगत मे शिखो के नरसंहार करने की होड़ मच गयी | असल मे ये तीनों ज्यादा से ज्यदा शिखो का नरसंहार करके राजीव गाँधी के गुड़ बुक मे आना चाहते थे | इस तीनों के तो बकायदा अपने गुर्गो को कह दिया की एक सरदार की पगड़ी लाने पर एक हज़ार नगद .. और एक सरदार का घर जलाने पर १०००० नगद मिलेगा |


मित्रों, दिल्ली के शिख विरोधी दंगो पर सबसे दोगला रवैया भारतीय मीडिया और तथाकथित सेकुलर कुत्तों का है | जो मीडिया और सेकुलर जानवर जाकिया जाफरी, जाहिरा शेख, इशरत जहां को इंसाफ दिलाने के लिए जी जान लगा देते है वही लोग शिखो के इंसाफ के लिए क्यों नही कुछ करते ?

दिल्ली के इस भयावह दंगो के दस गवाहों को जगदीश टाइटलर के ईशारे पर मौत के घाट उतार दिया गया और सैकडो गवाहों को डरा धमका कर खामोश करवा दिया गया |


मित्रों, इन दंगो के बाद भी कांग्रेस अपने इन त्री रत्नों के साथ मजबूती से खड़ी रही और इन्हें टिकट देकर सांसद और मंत्री भी बनाया | जगदीश टाइटलर इन दंगो के बाद दस सालो तक केन्द्र मे केबिनेट मंत्री रहे और उन्हें ट्रांसपोर्ट, सड़क मंत्रलय जैसा भारी भरकम पद दिया गया था | उन्हें कई सालो तक कांग्रेस सेवा दल का प्रमुख भी बनाया गया था | कांग्रेस ने पिछले लोकसभा चुनावो मे भी जगदीश टाइटलर को टिकट दिया था लेकिन एक पत्रकार ने जब पी चितंबरम के उपर जूता फेककर विरोध किया जब जाकर उनका टिकट काट दिया गया |
लेकिन वो जुडो फेडरेशन के आज भी चीफ बने हुए है |
सज्जन कुमार भीदंगो के बाद १० सालो तककांग्रेस के सांसद रहे |





एक शिख महिला को लाठियो से पिटते दिल्ली पुलिस

स्टेशन पर कुछ इस तरह बेईजतकरते हुए बिना कफन के लाशे भेजी जाती थी

मरने के बाद कफन भी नसीब नही हुआ क्योकि ये शिख था

कांग्रेसी दंगाईयों ने औरतो और बच्चो तक को नही छोड़ा .. देखिये एक हसते खेलते पूरे परिवार को मौतके घाट कांग्रेसियो ने उतार दिया


जो शिख दिल्ली से भागना चाहते थे उन्हें ट्रेनों और बसों से खीचकर मारा गया











विलाप करते शिख परिवार 

एक शिख अपने जले हुए घर को देखते हुए

बहशीपन की इंतिहा .. एक सरदार के गले मे टायर डालकर जिन्दाजला दिया कांग्रेसी गुंडों ने


जिन्दाजलता एक शिख .जिसे पूरी बहशी भीड़ घेरे हुए है









मित्रों, मुझे माफ़ करना क्योकि मैंने बहुत ही रोंगटे खड़े करने वाले फोटो अपलोड किये है | लेकिन गुजरात दंगो पर अपनी छाती कुटने वाली कांग्रेस और मीडिया का सच सामने लाने के लिए ये जरूरी था |







12 comments:

udaya veer singh said...

VAHE GURU UNAKI AATMA KO SHANTI DE......

Raj Kishor Singh said...

BAHUT HI DUKH KI BAT HAI,BHAGWAN MARNE WALO KI ATMA KO SANTI DE,LEKIN CONGRESS KO ......................?

Kamal said...
This comment has been removed by a blog administrator.
Jitendra pratap Singh said...

कमल जी इतने सारे फोटो मे सरदारों पर अत्याचार आपको नही दिखता .. अगर एक फोटो फिलीस्तीनी का है वो आपको दिख गया ? क्या बाकी के फोटो के बारे मे आपकी आत्मा आपको नहीं जगाती ?

Ashish said...

Jurm.... Jurm hota hai fir wo kisi pe bhi ho lekin ye galat hai ki sikkhon pe is tarah ka atyachar hota aa raha hai... Bhagat singh bhi ek Sikkh tha jo haste hue apne desh pe kurbaan ho gaya... lekin kya kahun az ki is duniya me insaan janwar hota jaa raha hai... aisi sarkaar jisko apne siva aur kuch bhi nahi dikhta kya hoga aise desh ka... waQt hai ek sath uth khade hone ka aur ek Agaagh hona chahiye ek yudh ke liye kyunki fir se zarurat hai bharat ko ek baar azad karane ki...
Jai hind...

आशुतोष की कलम said...

कांग्रेसियों ने बहुत सोच समझ के ये काम किया ..मनमाना नरसंहार करके इन्होने सिख कौम को तबाह किया ही साथ ही साथ हिन्दू सिख एकता को तोड़ दिया ...इश्वर इन सभी भाइयों की आत्मा को शांति दे और देश के आखिरी कांग्रेसी से भी हमे मुक्ति मिले ..

Against Corruption said...

इन् लोगो ने पुरे भारत का पैसा खा लिया है ..अब सिर्फ गुजरात बाकी है .. इसलिए इन् चोर कांग्रेसी की नज़र हमारे गुजरात पर है !!

Reality of Congressi .. Excellent collection of photo's .which shows cruelty against sikh

Rajesh Sharma said...

jo hua bahut galat hua bhagwan un sab ki atma ko santi de or ye sabhi photo media ko dikhani chahiye taki sach ka sab logo ko pata chal sake

Anonymous said...

आज मुझे शरम आ रही है कि मेरे देश में अभी तक करमजली कांग्रेस का राज है.

अब भी अगर कोई व्यक्ति कांग्रेस को वोट देने की सोचता है तो वह भी एक देश दोरही है.

Anonymous said...

Congrees was fully involving in this mascar

Anonymous said...

Right away I am going away to do my breakfast, after hаving my breakfast comіng oνer
agаin to reаԁ adԁіtional neωs.


Here is my web-ѕite :: High Stakes Bonus

Salman Pathan said...

shikho ko marane vale to hindu the vo dhodi koi musalman tha virodh karana hai to hindu ka karo jo danga bhadakate hai marate hai aam aadami hindi ho ya musalman ho aam aadami hi mara jata hai

1) mahatma gandhi ko kisane mara ?
2) indira gandhi ko kisane mara ?
3) rajiv gandhi ko kisane mara ?
4) 1984 me shikho ko kisane mara ?
5)2002 me gujrat hatyakand me musalman ko kisane kiya ?
6) aassam me musalman ko kisane mara ?

7) 1992 me mumbai me musalman ko kisane mara ?


YE SABH MARANE WALE HINDU THE AUR MARANE VALE MUSALMAN AUR SHIKH THE !!!!